तिलौथू रोहतास: समाजसेवियों ने स्लम एरिया के बच्चों में स्कूल बैग व कॉपी-कलम का किया वितरण

तिलौथू रोहतास: समाजसेवियों ने स्लम एरिया के बच्चों में स्कूल बैग व कॉपी-कलम का किया वितरण

समाजसेवियों ने स्लम एरिया के बच्चों में स्कूल बैग व कॉपी-कलम का किया वितरण
समाजसेवियों ने स्लम एरिया के बच्चों में स्कूल बैग व कॉपी-कलम का किया वितरण

तिलौथू रोहतास

शिक्षा की बुनियादी सुख-सुविधाओं से कोसों दूर, रहन-सहन की उचित व्यवस्था न होने के कारण भी अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए तिलौथू लीलापुरी के 10 बच्चे प्रतिदिन सरकारी विद्यालय में जाते हैं। पर पैसे के अभाव के कारण उनके पास उचित मात्रा में कॉपी कलम या स्कूल बैग, यहां तक कि पहनने के लिए जूते भी उपलब्ध नहीं है। ऐसे 10 बच्चों के बीच समाजसेवी सत्यानंद कुमार ने अपने टीम के सहयोग से सभी बच्चों को स्कूल बैग कॉपी कलम देकर उन्हें सप्ताहिक फ्री कोचिंग देने की व्यवस्था की। ताकि इन बच्चों का भी सपना पूरा हो सके। तिलौथू रोहतास

तिलौथू रोहतास
तिलौथू रोहतास

 

बच्चों से बातचीत के क्रम में नागेश, विशाल व प्रिंस ने बताया कि मुझे आर्मी में जाना है। आर्मी में जाना मेरा बचपन का शौक है। ये तीनों अभी से ही आर्मी जवान की तरह बाल कटिंग कराते हैं। वही सविता, सपना, जिया और नैना ने बताया कि मुझे डॉक्टर बनना है। और अपने समाज को कुपोषण और रोग से मुक्त करना है। अमन रोहित और शिवम ये तीनों दरोगा बनना चाहते हैं, ताकि अपने समाज को न्याय के साथ आगे बढ़ाया जा सके। सहयोगी टीम के सदस्य सुनील कुमार गुप्ता ने बताया कि बच्चों के आंखों में सपने बहुत हैं पर इन्हें पूरा करने के लिए कोई भी राजनीतिक या प्रशासनिक सहयोग नहीं मिल पाता। अक्सर इनके अभिभावकों का वोट लेने के लिए बिचौलिए पैसे के बल पर मोह लेते हैं। पर इनके बच्चों का कोई ध्यान देने वाला नहीं है। तिलौथू के सामाजिक युवा कार्यकर्ताओं ने एक टीम बनाकर ऐसे सैकड़ों बच्चों को शिक्षा के क्षेत्र में योगदान देने का निर्णय लिया है। जिसमें रामचंद्र साव, विकास कुमार उर्फ मोनू, छोटू कुमार, मनीष कुमार, राजीव गुप्ता, अजय गुप्ता, मुनमुनजी, डॉ. बी अंजुम, डॉ रंजीत राठौर सहित दर्जनों युवा अपना मासिक सहयोग दे रहे हैं। तिलौथू रोहतास

समाजसेवियों ने स्लम एरिया के बच्चों में स्कूल बैग व कॉपी-कलम का किया वितरण
समाजसेवियों ने स्लम एरिया के बच्चों में स्कूल बैग व कॉपी-कलम का किया वितरण

 

Curses away from the basic amenities of education, due to lack of proper living arrangements, 10 children of Tilauthu Lilapuri go to government school every day to achieve their goal. But due to lack of money, they do not have proper copy pen or school bag, even shoes to wear. Among such 10 children, social worker Satyanand Kumar, with the help of his team, arranged for weekly free coaching by giving school bags, copy pens to all the children. So that the dreams of these children can also be fulfilled.
In the course of conversation with the children, Nagesh, Vishal and Prince told that I have to join the army. Joining the army is my childhood hobby. These three are already getting hair cutting done like army soldiers. The same Savita, Sapna, Jiya and Naina told that I want to become a doctor. And to free our society from malnutrition and disease. Aman, Rohit and Shivam, all these three want to become inspectors, so that their society can be taken forward with justice. Sunil Kumar Gupta, a member of the cooperative team, told that the children have many dreams in their eyes, but no political or administrative support is available to fulfill them. Often middlemen get attracted by the power of money to get the votes of their parents. But there is no one to pay attention to their children. Social youth activists of Tilauthu have decided to form a team and contribute to the education of hundreds of such children. In which dozens of youth including Ramchandra Saav, Vikas Kumar alias Monu, Chhotu Kumar, Manish Kumar, Rajeev Gupta, Ajay Gupta, Munmunji, Dr. B Anjum, Dr. Ranjit Rathore are giving their monthly support. तिलौथू रोहतास

Team Satya Tv Bihar

Leave a Comment